महिला सशक्तिकरण- दुनिया को बेहतर बनाने का प्रयास

हम महिला सशक्तिकरण के युग में जी रहे हैं। पूरी दुनिया में आज महिलाएं पुरुषों के साथ कंधे से कंधा मिलाकर चल रही हैं। वे अब हर तरह से अपने जीवन एवं व्यवसाय से संबंधित निर्णय स्वयं लेने के लिए सशक्त हो चुकी हैं।

महिला सशक्तिकरण के लाभ:

महिलाओं को एक सार्थक एवं उद्देश्यपूर्ण जीवन जीने का आत्मविश्वास दिलाने को ही सही मायनों में महिला सशक्तिकरण कहते हैं। यह दूसरों पर उनकी निर्भरता समाप्त करते हुए उन्हें अपने आप में ही सबल बनाने का प्रयास है।

  • महिला सशक्तिकरण महिलाओं को गरिमा और स्वतंत्रता के साथ अपने जीवन का नेतृत्व करने में सक्षम बनाता हैं।

  • यह उनका आत्म सम्मान बढ़ाता है।

  • इसकी वजह से उन्हें एक अलग पहचान मिलती है।

  • वे समाज में सम्मानित पदों को प्राप्त करने में कामयाब होती हैं।

  • वे वित्तीय रूप से आत्मनिर्भर होती हैं और इस वजह से अपनी इच्छाओं एवं आवश्यकताओं के अनुरूप खर्च कर पाती हैं।

  • वे समाज के कल्याण के लिए सार्थक योगदान दे सकती हैं।

  • वे सक्षम नागरिक बनती हैं और देश के सकल घरेलू उत्पाद को बढ़ाने में सहयोग कर पाती हैं।

  • वे देश के संसाधनों में उचित एवं न्यायसंगत हिस्सा प्राप्त करने में कामयाब होती हैं।

महिला सशक्तिकरण की आवश्यकता:

  • बिना महिला सशक्तिकरण के हम अन्याय, लिंग-भेद और असमानताओं को दूर नहीं कर सकते।

  • अगर महिलाएं सशक्त नहीं हैं तो उन्हें जीवन में सुरक्षा और संरक्षण का आनंद प्राप्त नहीं हो सकता।

  • इससे उन्हें कार्य करने के लिए सुरक्षित वातावरण प्राप्त होता है।

  • महिलाओं के शोषण और उत्पीड़न के खिलाफ सशक्तिकरण एक शक्तिशाली औजार के रूप में कार्य करता है।

  • यह महिलाओं के लिए पर्याप्त कानूनी संरक्षण प्रदान करने का एक बड़ा साधन है।

  • अगर सामाजिक और आर्थिक रूप से महिलाएं सशक्त नहीं की गईं तो वे अपनी खुद की पहचान का विकास नहीं कर पाएंगी।

  • अगर महिलाओं को रोजगार प्रदान नहीं किया गया तो वैश्विक अर्थव्यवस्था पर प्रतिकूल प्रभाव पड़ेगा क्योंकि महिलाएं दुनिया की आबादी का एक विशाल हिस्सा हैं।

  • महिलाएं बेहद रचनात्मक और बुद्धिमान होती हैं और इस वजह से सामाजिक-आर्थिक गतिविधियों में उनका योगदान प्राप्त करना जरूरी है।

  • एक न्यायसंगत एवं प्रगतिशील समाज के लिए महिलाओं को कार्य के समान अवसर प्रदान किए जाने की आवश्यकता है।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *